Nil Sperm Count Solution

On 22 Jun., 2022

You are not satisfied with your sex life and want a perfect solution? Mother Hospital is providing all your sex related solutions along with expert consultation. Many of our customers are now satisfied with their sex life and intercourse durations.

Nil Sperm Count Solution

SEX PROBLEMS

नपुसंकता यानि (Erectile dysfunction) एक यौन संबंधित रोग है जो इंसान के शरीर में वीर्य कम या खत्म हो जाने की स्थिति है और इसी कारण वह संतान की प्राप्ति नहीं कर सकता । इसे स्तंभन दोष भी कहते हैं । 

नपुसंकता (Erectile dysfunction)आजकल बहुत सामान्य बीमारी बनती जा रही है। तनाव या डिप्रैशन का होना इसके प्रमुख कारण हैं। अनुचित खानपान, जीवनशैली, शराब, सिगरेट, नशे आदि का सेवन भी इसके कारण हैं।  बार हो रही बीमारियां या स्वास्थ्य का खराब रहना भी नपुंसकता के लक्षण हो सकते हैं । 

कईं बार सिर्फ नपुसंकता (Erectile dysfunction) का होना सैक्स समस्या नहीं हो सकता बल्कि इसके दूसरे कारण भी हो सकते हैं । इसके पीछे दूसरे शारीरिक कारण भी हो सकते हैं, जैसे-
समय से पहले वीर्य का निकल जाना
देरी से या कम मात्रा में वीर्य का निकलना 
सैक्स में रूचि नहीं होना
नपुसंकता होने के कारण (Causes of Erectile dysfunction)

दिल संबंधी रोग, जैसे – हार्ट अटैक, थक्का लगना आदि ।
डायबटिज़
बल्ड प्रैशर
कैंसर
डिप्रैशन
नशीली दवाओं के सेवन द्वारा
शराब का उपयोग
धूम्रपान
नपुसंकता के लिए इसमें से कोई भी कारक जिम्मेदार हो सकते हैं | यही कारण है कि आपको शीघ्र विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए! 

लिंग का खड़ा न होना 
लिंग का बड़ा या खड़ा होना खून में रक्त के प्रवाह की वजह से होता है । रक्त का यह प्रवाह आमतौर पर सैक्स भावनाओं के मन में आने और लिंग के साथ किसी सैक्स संबंधी साधन के संपर्क में आने से होता है |
जब कोई मनुष्य यौन रुप से उत्तेजित होता है तब उसके लिंग में रक्त का प्रवाह होना जारी होता है । उस समय अगर मनुष्य इससे और उत्तेजक बनाना चाहता है तो खून का दौर या प्रवाह और अधिक तेजी से होने लगता है । जब लिंग की मांसपेशियों में रक्त का यह प्रवाह पूरी तरह भर जाता है तब लिंग कठोर हो जाता है । 
क्या दिक्कतें आती हैं ? (Complication)
डॉक्टरों और सैक्सोलॉजिस्ट के शोध के अनुसार आजकल बहुत से पुरुषों में नपुंसकता बढ़ती जा रही है । अगर आयु के अनुसार देखें तो :
60 से कम आयु के पुरुषों में लगभग 12 प्रतिशत 
60 से अधिक आयु के लोगों में 22 प्रतिशत
70 या उससे अधिक उम्र के लोगों में 30 प्रतिशत 
वैसे आयु के साथ नपुसंकता (Erectile dysfunction) का खतरा बढ़ जाता है, लेकिन जब आप उम्र के पड़ाव को पूरा करते हैंतो नपुसंकता होना परेशानी की बात नहीं है । आयु बढ़ने के साथ लिंग का कठोर होना या खड़ा होना कठिन हो जाता है । 
नपुंसकता युवा पुरुषों के बीच भी हो सकती है । एक अंतर्राष्ट्रीय शोध में किये गए अध्ययन से वैज्ञानिकों ने 40 वर्ष से कम पुरुषों में धूम्रपान करने और अवैध दवाओं के उपयोग को नपुंसकता का कारण बताया ।इससे यह बात भी सामने आयी है कि युवाओं में नपुंसकता होने के पीछे उनकी अनहेल्दी लाइफस्टाइल है ।
उपचार(Diagnosis)
डॉक्टर आपसे आपके स्वास्थ्य इतिहास को लेकर प्रश्न पूछता है ।वे इसे कन्फर्म करने के लिए जांच कर सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि आपके रोग के लक्षण का कारण क्या है । आप अपने अंडकोष और लिंग की जांच करवाएं । वे आपकी प्रोस्टेट जांच के लिए एक रेक्टल परिक्षण की भी कर सकते हैं । इसके अलावा आपको दूसरी जांच की भी ज़रुरत हो सकती है ।
इलाज (Treatment)
नपुंसकता का इलाज बाहरी न होकर कईं हद तक भीतरी है । आपको कुछ चीजों पर ध्यान देना होगा जैसे – दवाओं पर, जीवनशैली में बदलाव के द्वारा आप इसे ठीक कर सकते हैं ।

दवाएं
नपुसंकता के लिए आपके सेक्सोलॉजिस्ट डॉक्टर जांच के आधार पर आपको दवाईयां दे सकता है । इलाज के दौरान आपको इन दवाओं का सेवन करना पड़ सकता है परंतु इन दवाओं का दुष्प्रभाव भी हो सकता है ।

इसलिए होमियोपैथी और आयुर्वेद को इस बीमारी के इलाज के लिए रामबाण माना गया है ।  मदर हॉस्पिटल में विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम हैं जो आपके नपुंसकता का ईलाज बेहद सावधानी से करते हैं।  पूर्ण जांच करने के बाद ये डॉक्टर्स आपके मेन्टल, फिजिकल, सेक्सोलॉजिकल प्रॉब्लम को समझते हैं और हर्बल दवाई जो की जर्मन दवाइयां हैं, लेने की सलाह देते है।  साथ ही साथ डॉक्टर्स आपको डाइट प्लान बताते हैं और फॉलो अप भी रखते हैं ताकि आपकी समस्या का जल्द से जल्द निवारण हो सके! 
 
प्राकृतिक उपचार
कुछ पुरुषों के मामलों में उन्हेंप्राकृतिक उपचार मदद कर सकते हैं । लेकिन किसी भी आयुर्वेदिक या देसी इलाज को करने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें ।
यहां कुछ आयुर्वेदिक दवाईयां बताई गई हैं जो नपुसंकता के इलाज में सफल मानी गई हैं -
जिनसेंग
योहिम्बे
शतावरी रेसमोसस
टॉक थेरेपी
मानसिक स्तर का नपुसंकता के होने या न होने पर बहुत प्रभाव पड़ता हैं -
तनाव या डिप्रैशन 
चिंता
पोस्ट-आघात विकार (PTSD)
अगर आपको इनमें से किसी प्रकार की मानिसक समस्या है तो यह आपके अंदर नपुंसकता का कारण हो सकते हैं । 
कुछ बेसिक जीवनशैली में बदलाव आपके अंदर नपुंसकता को कम कर सकते हैं, जैसे –
नियमित व्यायाम
संतुलित और पौष्टिक आहार
नशीले पदार्थों के सेवन से बचें
तनाव, चिंता कम करें 
नपुसंकता और कुछ नहीं, आपकी जीवनशैली पर निर्भर है । अगर स्वस्थ जीवनशैली होगी तो नपुंसकता की संभावना बहुत कम होगी ! 

उपरोक्त सभी ऊपाय एक साधारण तौर के पेशेंट के लिए है लेकिन जरुरी नहीं है की यह ऊपाय सब पर काम करे।  जिन दवाइयों के नाम बताये गए हैं वो भी बिना चिकित्सक परामर्श के लेना सही नहीं है।  अतः आपको भी नपुंसकता से सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या है तो मदर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स से OPD में आकर मिल सकते हैं या कॉल / वीडियो कॉल द्वारा ऑनलाइन कंसल्टेशन ले सकते हैं।  आप जैसे हज़ारों रोगियों का ईलाज हमारे डॉक्टर्स सफलता पूर्वक कर चुके है।  जो फार्मूला दवाई के लिए डॉक्टर्स ने इज़ाद किया है उसमे भी १० से ज्यादा वर्षों का शोध किया गया  है  और हरेक दवाई क्लिनिकली प्रोवेन है
 

Nil Sperm Count Solution
Read more...